Search This Blog

Monday, September 21, 2009

अभी बच्ची है

अभी बच्ची है

समज जायेगी

अपने -पराये का भेद

उंच-नीच

कायदा-वायदा

कल चली जायेगी

किसी और घर

और सोचेगी

बच्ची को देख

योही रखे मुह पर हाथ

अभी बच्ची है

समज जायेगी ///