Search This Blog

Wednesday, November 18, 2009

यहाँ है ईश्वर पहिले से मौजूद ...

कौन हो ?
मेरे सिवाय यहाँ कोई है नहीं
और अगर किसी ने होने की कोशिश
जो कभी की भी त्तो
वो यहाँ रह नहीं पाया
तुम्हे भी यहाँ नहीं रहना, शायद ?
कुछ समय देता हूँ
फालतू बोलना और कडवा बोलना
नहीं मुझे कभी लगा अच्छा
कल मिलते है ,तय कर लेना
अपने और अपने बच्चों का ख्याल करना ..
और यह कह कर उसने मेरे बच्चे को जो लगाया अपने गले
में सिहर गया
तब से उसकी हर बात सिहरता
हँसते हुए रोता और रोते हुए हँसता हूँ
उसकी हर बात
मेरी साँस है
ईश्वर यहाँ कभी नहीं आता
शायद वो जानता है
यहाँ है ईश्वर पहिले से मौजूद .....