Search This Blog

Saturday, May 1, 2010

एक मगर था- जानता

बहुत दूरी से 
उसको किया है प्यार
जिसे कभी देखा नहीं
बस- पढ़ा-- उसका लिखा हुआ
सुना-- उसका बोला हुआ
और प्यार हो गया
मिलने की इच्छा  होने लगी
रात दिन उसकी याद में लिपटने लगे
लोग मुस्कराए
सोचने लगे इस उम्र
ये क्या हुआ ,क्यों हुआ ?
सिर्फ पढकर उसे.. सुनकर उसे !!
क्या ऐसा मिला --
एक मगर था- जानता
जिसे किसी ने कभी  नहीं देखा
वो मानता
पहली बार बन्दे को सच्चा प्यार हुआ ..