Search This Blog

Tuesday, April 12, 2011

तुम्हे याद करे ....

---तुम्हे याद करें ----

भोर की ओस 
हरे पत्ते पर 
जैसे सीप 
हाथ लगाओ 
तो
बिखरे 
निहारो 
तो 
निखरे 
छवि 
प्यारी 
प्यार करे 
तुम्हे याद करे ....