Search This Blog

Wednesday, December 1, 2010

हर सम्बन्ध के लिए

कुछ दिनों पहिले अजनबी थे
अब पहचान  है
उसके दोस्त  है
फिर भी अजनबी है हम अब भी
अभी उत्कंठा बाकी है
उससे मिलने की
अभी दूरी है मुझमे और उसमे
उतनी... जितनी जरुरी  होती है 
हर सम्बन्ध के लिए .....