Search This Blog

Thursday, September 8, 2011

नायिका

नायिका हो 
मेरे जीवन में केवल तुम हो
मगर तुम बनी रहो मेरी नायिका 
इसीलिए  शायद तुम्हे छोड़ जाता हूँ 
सपनो के साथ 
ख्वाबों  की दुनिया में
मखमली  सोंदर्य की छाया में
मांसल होते आकर्षण से
होता हूँ दूर
करने प्यार
तुमसे ..नायिका !!