Search This Blog

Saturday, June 21, 2014

माँ

माँ
तुम्हारे होठों पर हलकी सी मुस्कराहट
अथाह दर्द के बीच
मुझे देख
आई थी
मुझे याद है /
माँ
वो  ख़ुशी तुम्हारी
आज
मुझे अपने दर्द में
दवा दे गयी .............राकेश मूथा